14 अप्रैल बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जयंती

कविता:भीम बाबा
KAVITA BAHAR LOGO

कविता:भीम बाबा

तांटक छंद - भीम बाबा ★★★★★★★★★★★ दुख दर्दो को झेल जनम भर, निर्धनता के मारे थे। बाबा अपने निज कर्मो से, इस जग में उजियारे थे। ★★★★★★★★★★ छुवाछुत को मानवता…

टिप्पणी बन्द कविता:भीम बाबा में

महामानव को नमन्

स्वरचित कविता.... महामानव को नमन् ........................................................... जीवनभर समानता के लिए, संघर्ष करने वाले बाबा को नमन्। ज्ञान के प्रतीक,प्रकाण्ड विद्वान, विश्व प्रणेता,संविधान शिल्पकार को नमन्।। विपुल प्रतिभा व ज्ञान के…

0 Comments

भीमराव अबेडकर पर दोहे

#poetryinhindi,#hindikavita, #hindipoem, #kavitabahar #dohe(function(d,e,s){if(d.getElementById("likebtn_wjs"))return;a=d.createElement(e);m=d.getElementsByTagName(e)[0];a.async=1;a.id="likebtn_wjs";a.src=s;m.parentNode.insertBefore(a, m)})(document,"script","//w.likebtn.com/js/w/widget.js");नीच समझ जिस भीम को, देते सब दुत्कार |कलम उठाकर हाथ में, कर गये देश सुधार ||१||जांत-पांत के भेद की, तोड़ी हर दीवार |बहुजन हित में…

0 Comments