KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR
Browsing Tag

21 मार्च विश्व कविता दिवस

21 मार्च विश्व कविता दिवस

कवि का धर्म निभाना है

कवि का धर्म निभाना है . ककुभ छंद. (१६,१४...... चरणांत.२२)नव उम्मीदें,नया आसमां,यही विकासी सपना है।जागृत हुआ गौर से देखा,सारा भारत अपना है।

कलम चले कालचक्र सी – बाबू लाल शर्मा

कलम चले कालचक्र सी . (१६मात्रिक)कलम चले यह कालचक्र सी,लिखती नई इबारत सारी।इतिहासों को कब भूलें है,लिखना देव इबादत जारी।घड़ी सुई या चलित लेखनी,पहिया

साहित्य की आत्मा कविता

साहित्य की आत्मा कविता प्रतियोगिता दिवस के लिए हैं। जो 4 से 19 अक्टूबर तक प्रकाशित करने के लिए है साहित्य की आत्मा, कविता होती है निरस कविता साहित्य…

कविता क्या है?

कविता क्या है? हे प्रिये! कविता क्या है? कविता मधुर की मुस्कान है। भावों की तीव्र अनुभूति है। कविता सुंदर का ज्ञान है। कविता जज्बातों,अरमानों का रूप…