अयोध्या और राममंदिर पर कविता /सुन्दर लाल डडसेना”मधुर”

राम जन्मभूमि मंदिर एक हिंदू मंदिर है जो भारत के उत्तर प्रदेश केअयोध्या में राम जन्मभूमि के पवित्र तीर्थ स्थल पर पुनः नए रूप में बनाया जा रहा हेैं।[3]राम जन्मभूमि राजा राम का जन्मस्थान है, जिन्हे भगवान विष्णु के सातवे अवतार के रूप में पूजा जाता है। मंदिर का निर्माण श्री राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र द्वारा किया जाएगा।

अयोध्या और राममंदिर /सुन्दर लाल डडसेना”मधुर”

shri ram hindi poem.j

भगवा रंग में रंगने को लगे सदियों साल है।
सालों साल तंबू में काटे भगवन इसका मलाल है।
आज रामलला के मंदिर निर्माण की शुभ घड़ी आई है।
अयोध्या संग पूरी दुनिया रंगी भगवा रंग लाल है।1।


राम नाम के जाप से पूरन होंगे सब काम।
अयोध्या मंदिर में विराजेंगे मेरे प्रभु श्रीराम।
मन मंदिर खिल उठी ये शुभ घड़ी आई है।
दीपोत्सव सी सजी है सच में अयोध्या धाम।2।


मंत्रों से गुंजायमान होगी पूरी सृष्टि चहुँओर।
रामलला निज मंदिर विराजेंगे मची हुई है शोर।
दिल में गर राम बसा है खुशी से चेहरे खिले।
नवयुग का आरंभ होगा नवविहान व भोर।3।


हर हिन्दू की तपस्या का फल फलीभूत होने वाली है।
सरयू के पावन जल से तन का तपन मिटने वाली है।
लगेगी नींव भक्ति की निज निवास राम विराजेंगे।
दीये कर लो जरा रोशन,लगे आज ही दीवाली है।4।


5 अगस्त 2020 स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा।
500 वर्षों की तपस्या,संघर्ष का फल मिल जाएगा।
5 दीये जला लेना,भूमिपूजन का प्रकाश फैला देना।
अयोध्या में राम मंदिर बनेगा,हिंदुस्तान सनातनी कहलाएगा।


*सुन्दर लाल डडसेना”मधुर”*
ग्राम-बाराडोली(बालसमुंद),पो.-पाटसेन्द्री
तह.-सरायपाली,जिला-महासमुंद(छ. ग.) पिन- 493558

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.