चैत्र शुक्ल नवमी श्री राम नवमी

अयोध्या मंदिर निर्माण

अयोध्या मंदिर निर्माण अवधपुरी भगवा हुई, भू-पूजन की धूम। भारतवासी के हृदय, आज रहे हैं झूम।। दिव्य अयोध्या में बने, मंदिर प्रभु का भव्य। सकल देश का स्वप्न ये, सबका…

टिप्पणी बन्द अयोध्या मंदिर निर्माण में
राम नाम जपले रे मनवा गीत
गीत

राम नाम जपले रे मनवा गीत

राम नाम जपले रे मनवा,निश दिन सांझ सबेरे। पल में सारे कट जायेंगे,जीवन के दुख तेरे। राम नाम जपती थी शबरी,मन में आस लगाये। फूल बिछाती रही राह में,राम प्रभू…

टिप्पणी बन्द राम नाम जपले रे मनवा गीत में

मन में राम नाम नित जापे- कवयित्री अर्चना पाठक

मन में राम नाम नित जापे अवध पुरी आए सिय रामा।ढोल बजे नाचे सब ग्रामा।।घर-घर खुशहाली हर द्वारे। शिलान्यास मंदिर का प्यारे।।राम राज चहुँ दिशि है व्यापे। लोक लाज संयत…

टिप्पणी बन्द मन में राम नाम नित जापे- कवयित्री अर्चना पाठक में

मेरे श्रीराम और प्रकृति पूजा( श्रीराम जी पर कविता) -राजकुमार मसखरे

मेरे श्रीराम और प्रकृति पूजा ~~~~~~~~~~~~~~~~~ओ मेरे प्रभु वनवासी रामआज पधारे अयोध्या धाम,चौदह वर्ष तक वन को घूमेअब करो अविरल आराम !निषाद राज गंगा पार करायेकंदमूल खा कर,सरिता नहाए,असुरों को…

टिप्पणी बन्द मेरे श्रीराम और प्रकृति पूजा( श्रीराम जी पर कविता) -राजकुमार मसखरे में

मेरे रामलला का राज हुआ-शिवराज चौहान

*राम जन्म भू मंदिर पूजन,* *नव दिन का आगाज हुआ।**आज अयोध्या में फिर से,* *मेरे रामलला का राज हुआ।।*सदियां बीती इंतजार में, कब ऐसा दिन आएगा।जब मंदिर के गुरु शिखर…

टिप्पणी बन्द मेरे रामलला का राज हुआ-शिवराज चौहान में

अयोध्या और राममंदिर- सुन्दरलाल डडसेना मधुर

*अयोध्या और राममंदिर* भगवा रंग में रंगने को लगे सदियों साल है। सालों साल तंबू में काटे भगवन इसका मलाल है। आज रामलला के मंदिर निर्माण की शुभ घड़ी आई…

0 Comments

चिरागे धरती सिया समागे

??चिरागे धरती सिया समागे?? ठाढ़े - ठाढ़े देखत रहिगे , अकबकागे दरबार ! चिरागे धरती सिया समागे , छोड़के सकल संसार !! कईसन निष्ठुर होगे , जगत पति श्री राम…

0 Comments

मर्यादा श्रीराम की

*मर्यादा श्रीराम की* *(दोहे)* ?????????? मर्यादा श्री राम की, जीवन में अपनाय। अहंभाव को त्यागकर,सदा नम्र बन जाय।।1।। ???? सेवक हो हनुमान सा,होय न हिम्मत हार। लाय पहाड़ उठायके, करें…

0 Comments

श्रीराम स्तुति

??.. *जय श्रीराम* ..?? *तर्ज:- श्री रामचंद्र कृपालु भजु मन हरण भव भय दारुणं।* *श्रीराम स्तुति* *हरिगीतिका छन्द* *दिनांक : 18/04/2020 ( शनिवार )* कारुण्य रूप जनार्दनम राजीवलोचन सुन्दरं। आजानबाहु…

0 Comments