बाल कविता- धरती करे गुहार (आचार्य गोपाल जी)

आज हमारी पर्यावरण संकट में है यदि वृक्षारोपण करके इसका संरक्षण ना किया जाये तो हम सबका भविष्य खतरे में है । इस पर आधारित बाल कविता से यह सीख लीजिये

0 Comments

पर्यावरण दिवस पर बलबीर सिंह वर्मा ‘वागीश’ की चौपाई

चौपाई छंदबच्चे - बूढ़े सुन लो भाई,पेड़ों की मत करो कटाई।वृक्षों से मिलती है छाया,गर्मी में हो शीतल काया।सबने इनकी महिमा गाई,मिलते हैं फल-फूल दवाई।पेड़ों से ही वर्षा आती,सब के…

0 Comments

पर्यावरण-बासुदेव अग्रवाल ‘नमन’

पर्यावरण खराब हुआ, यह नहिं संयोग।मानव का खुद का ही है, निर्मित ये रोग।।अंधाधुंध विकास नहीं, आया है रास।शुद्ध हवा, जल का इससे, होय रहा ह्रास।।यंत्र-धूम्र विकराल हुआ, छाया चहुँ…

0 Comments

पर्यावरण संकट-माधवी गणवीर(Paryaavaran sankat)

पर्यावरण संकट जीवन है अनमोल, सुरक्षित कहां फिर उसका जीवन है,प्रक्रति के दुश्मन तो स्वयं मानव है,हर तरफ प्रदूषण से घिरी हमारी जान हैं,फिर भी हर वक्त बने हम कितने नादान…

0 Comments

पालीथिन खतरे-बाबू लाल शर्मा “बौहरा” ( Babulal sharma)

.          *पालीथिन खतरे*1.सरकारी   चेतावनी, सुनलो  देकर   ध्यान।पाँलीथिन  तौबा  करो, धरा  बचा  इंसान।।2..बोरे   से   कट्टे   भये , थैले   चिल्ली   होय।मानव  इतना  क्यों गिरे, पालीथिन संजोय।।3..कपड़े   के   थैले  भले, रखो  साज …

0 Comments

दुनिया से प्लास्टिक मिटा देंगे हम(Duniya se plastic mita denge ham)

दुनिया से प्लास्टिक मिटा देंगे हम.हम तुम सनम चलो खाले कसम |दुनिया से प्लास्टिक मिटा देंगे हम |ये गलता नही मिट्टी मे मिलता नही |खाती गाये पेट उनके पचता नहीं…

0 Comments

आज पर्यावरण संरक्षण की सख्त जरूरत है (aaj paryaavaran sarakshan ki sakht jarurat hai)

पर्यावरण संरक्षण की सख्त जरूरत हैदूषित हुई हवावतन की कट गए पेड़सद्भाव के बह गई नैतिकता मृदा अपर्दन में हो गईं खोखली जड़ेंइंसानियत की घट रही समानता ओजोन परत की तरहदिलों की सरिताहो गई दूषित मिल गया…

0 Comments

ये पानी नहीं , चमकीले मोती हैं(ye pani nahi chamakile moti hai)

#poetryinhindi,#hindikavita, #hindipoem, #kavitabahar #manibhainavratna ये पानी नहीं ,चमकीले मोती हैं।बारिश होते देखा तो होगा ?ये पानी नहीं,अमृत की बूंदें हैं ।तूने प्यास कभी बुझाया तो होगा?ये पानी प्रभु का प्रसाद है।इस…

0 Comments