यहाँ पर हिन्दी कवि/ कवयित्री आदर० सुशी सक्सेना’ के हिंदी कविताओं का संकलन किया गया है . आप कविता बहार शब्दों का श्रृंगार हिंदी कविताओं का संग्रह में लेखक के रूप में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किये हैं .

बेटी पर कविता – सुशी सक्सेना

मेरी बिटियामेरी बिटिया, मेरे घर की शान है।मेरे जीने का मकसद, मेरी जान है।पता ही न चला, कब बड़ी हो गई,मेरी बिटिया अपने पैरों पे खड़ी हो गई,मेरे लिए अब…

0 Comments

दुर्गा मैया पर कविता – सुशी सक्सेना

दुर्गा मैया पर कविताआओ मईया मेरी, शेर पर होकर सवार।क्या हो गया है, देखो तेरे जगत का हाल।जाओ मईया जरा उस दिशा की ओर,नफ़रत के सिवा जहां, नहीं कुछ और,आपस…

0 Comments

हिंदी हमारी भाषा – सुशी सक्सेना

हिंदी हमारी भाषा,युगों-युगों से पूजी जाती, हिंदी हमारी मातृभाषा।भारत देश के माथे की बिंदी, हमारी राष्ट्रभाषा।अंग्रेजों को मार भगाया, फिर भी रह गई अंग्रेजी।हिंदी की है साख निराली, इसके जैसा…

0 Comments

श्रीकृष्ण पर कवितायें- जन्माष्टमी पर्व विशेष

श्रीकृष्ण पर कवितायें हठ कर बैठे श्याम, एक दिन मईया से बोले।ला के दे-दे चंद्र खिलौना चाहे तो सब ले-ले।हाथी ले-ले, घोड़ा ले-ले, तब मईया बोली।कैसे ला दूं चंद्र खिलौना,…

0 Comments

खुद से वादा – सुशी सक्सेना

खुद से वादा साहिब, खुद से भी एक वादा करना है।मंजिल तक पहुंचने का इरादा करना है।नित नए संघर्ष होंगे, जीवन के पथ पर,मगर सवार हो कर, उत्साह के रथ…

0 Comments
HINDI KAVITA || हिंदी कविता
HINDI KAVITA || हिंदी कविता

तेरी यादों का सामान – सुशी सक्सेनास

तेरी यादों का सामान HINDI KAVITA || हिंदी कविता तेरी यादों का सामान अभी भी पड़ा है मेरे पासजो दिलाता है तेरे करीब होने का अहसास।कुछ मुस्कुराहटें जो दिल में…

0 Comments

इंदौर की कवयित्री सुशी सक्सेना की कविताएं

यहाँ पर इंदौर की कवयित्री सुशी सक्सेना की कविताएं आपके समक्ष प्रस्तुत किये किये जा रहे हैं सुशी सक्सेना की कविताएंये इश्कनजरों की जुबां,एक अधूरा ख्वाबमेरा शहरमेरे अधूरे ख्वाबजाने क्यों…

0 Comments