5 सितम्बर शिक्षक दिवस पर कविता

5 सितम्बर शिक्षक दिवस (डॉ राधाकृष्णन का जन्मदिन)

शिक्षक की अभिलाषा – अखिल खान

शिक्षक की अभिलाषा शिक्षक की अभिलाषा मानव के लिए शिक्षा,एक अनमोल वरदान है,जो हो गया शिक्षित,उसका अलग पहचान है।अशिक्षा से मनुष्य,निराश और परेशान है,जो जलाए शिक्षा का दीप,वही ज्ञानवान है।गुरू की करो सेवा,गुरु है ज्ञान की परिभाषा, सम्मान की जिज्ञासा,शिक्षक की अभिलाषा। कर मेहनत विद्यार्थिगण,रचो तुम इतिहास,खुद को करो साबित न बनो तुम ‘उपहास’। कहता …

शिक्षक की अभिलाषा – अखिल खान Read More »

manibhainavratna

शाला और शिक्षक को समर्पित कविता

शाला और शिक्षक को समर्पित कविता वही मेरी जन्मभूमि है .वही मेरी जन्मभूमि है . जहाँ मैंने बातों को समझाजहाँ से खुला आनंद द्वार ।भटक जाता राहों में शायदगुरु आपने ही लगाई पार ।आशीष सदा आपकी, नहीं कोई कमी है।वही मेरी जन्मभूमि है ।वही मेरी जन्मभूमि है । हमने जो पूछा, वो सब बताया।सच्चे राहों …

शाला और शिक्षक को समर्पित कविता Read More »

पद्ममुख पंडा महापल्ली के 10 हिंदी कवितायेँ

पुरातन काल में गुरू के प्रति शिष्य की जो प्रगाढ़ भक्ति भावना थी, वह अब कहीं भी देखने को नहीं मिलता है।

5 सितम्बर शिक्षक दिवस 5 September Teacher's Day

शिक्षक जग विख्यात है करे राष्ट्र निर्माण

शिक्षक जग विख्यात है करे राष्ट्र निर्माण शिक्षक सदगुण से भरे , रहें ज्ञान संपन्न ।ऊँचे ही आदर्श हो , विद्या नहीं विपन्न ।।विद्या नहीं विपन्न , तभी तो राष्ट्र जगेगा ।देश प्रेम सद्भाव , शिष्य के मार्ग रचेगा ।।कह ननकी कवि तुच्छ , बाल मन के ये वीक्षक ।आदरेय सत्कार , नमन है सारे …

शिक्षक जग विख्यात है करे राष्ट्र निर्माण Read More »

विद्यार्थी पर कविता

प्रशिक्षण लेना हे संगी छत्तीसगढ़ी कविता

प्रशिक्षण लेना हे संगी मोर ईस्कूल रहे सबले बढ़िया ।यहां के लइका रहय सबले अगुआ ।तेकर बर टाइम देना हे संगी।प्रशिक्षण लेना हे संगी। प्रशिक्षण में सीख थन खेल खेल म विज्ञान ।प्रशिक्षण के बात हे दूसरा यह बात ला जान ।रिकिम-रिकिम मॉडल में ध्यान देना हे संगी।प्रशिक्षण लेना हे संगी। लइका के हर बात …

प्रशिक्षण लेना हे संगी छत्तीसगढ़ी कविता Read More »

शिक्षक दीपक बन जले-माधुरी डड़सेना

शिक्षक दीपक बन जले श्रीमत से कल्याण , दिये जगत को नित दिशा ।शिक्षक नव निर्माण , दे समाज उपहार वह ।। गुरु पद लेता भार , पथ दर्शक बनता वही।करे स्वप्न साकार , वंदनीय शिक्षक सदा ।। श्री गणेश शुरुआत , ज्ञा से ज्ञानी तक सफर ।दिये श्रेष्ठ सौगात , शिक्षक दीपक बन जले …

शिक्षक दीपक बन जले-माधुरी डड़सेना Read More »

नमन है मेरे गुरुवर -केवरा यदु मीरा

नमन है मेरे गुरुवर -केवरा यदु मीरा शिक्षक ईश समान है, कर गुरु का सम्मान।अक्षर अक्षर जोड़ कर,बाँटे जो नित ज्ञान।बाटे जो नित ज्ञान,शिष्य को योग्य  बनाते।ज्ञान ज्योति ले हाथ,सदा सत राह दिखाते।मात पिता  भगवान,बने बच्चों का रक्षक।नमन  करें सौ बार,ब्रम्ह का रुप है शिक्षक ।। गुरुवर तुमको है नमन, चरणों में शत बार।झोली भरदो …

नमन है मेरे गुरुवर -केवरा यदु मीरा Read More »

You cannot copy content of this page