KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR
Monthly Archives

मई 2020

हिन्दी कविता: सीसीई (सतत् व्यापक मूल्यांकन) – मनीभाई…

सतत व्यापक मूल्यांकन पर आधारित कविता, जिसे मैंने सन् 2013 में विज्ञान प्रशिक्षण के मास्टर ट्रेनर बनने के दौरान लिखा था ताकि शिक्षकों को सतत व्यापक…

छत्तीसगढ़ी गीत: मोर जनम भूमि के भुईयां,,,,,, (पदमा साहू)

गीत मोर जनमभूमि के भुंईयां मा माथ नवावंव गा। मोर छत्तीसगढ़ के भुंईयां मा माथ नवावंव गा।। जनम लेंव इही माटी मा ,,,,,2 इही मोर संसार आवय गा--…

हिन्दी निबंध : कोरोना वायरस (संकलित रचना )

प्रस्तावना : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का यह कहना की कोरोना अमेरिका पर पर्ल हार्बर और 9/11 के आतंकी हमले से बड़ा हमला है. जो इस बात की

हिन्दी कविता : नंद नयन का तारा है,विधा तांटक छंद,डिजेन्द्र…

इस रचना को अधिक से अधिक शेयर करें ताटंक छंद - नंद नयन का तारा है ★★★★★★★★★★★ कोयल कूके जब अमुवा पर, मन भौंरा इठलाता है। तान…

हिन्दी कविता : कोहिनूर की आभा विधा दोहे रचनाकार डिजेन्द्र…

*कोहिनूर की आभा* ★★★★★★★★★★ सार भरा ऋग्वेद में ,देवों का आह्वान। लिखा वेद जी व्यास ने,जिसका अतुल विधान।। यजुर्वेद में मंत्र का,पावन है विस्तार।…

हिंदी कविता : मैंने खोल दिये हैं, पावों की अनचाहे बेड़ियां…

अब नहीं रुकूंगी, नित आगे बढूंगी मैंने खोल दिए हैं , पावों की अनचाहे बेड़ियां। जो मुझसे टकराए , मैं धूल चटाऊंगी हाथों में डालूंगी , उसके अब हथकड़ियां।।…

मैं बादल हूं ,तू मेरी सरिता है- मनीभाई नवरत्न

मैं बादल हूं तू मेरी सरिता है मैं शायर हूं तू मेरी कविता है। मेरा खुदा है तू सबसे जुदा है तू मेरा कुरान कलमा तू ही मेरी गीता है। तेरी सूरत है ,…