2 अक्टूबर गांँधी जयंती पर कविता

Mahatma gandhi

गाँधी की जरूरत -पद्मा साहू “पर्वणी”

गाँधी की जरूरत -पद्मा साहू “पर्वणी” पदमा साहू “पर्वणी” के दोहेखैरागढ़ जिला राजनांदगांव छत्तीसगढ़ गाँधी की जरूरत -पद्मा साहू “पर्वणी” “पुनः जरूरत देश को, गाँधी तेरी आज।”* सत्य अहिंसा सादगी, ब्रम्हचर्य विश्वास।आत्म शुद्धि व्यवहार है, गाँधी जीवन खास।। गाँधी के सिद्धांत यह, परम धर्म हो धेय।जीवन शाकाहार हो,ध्यान धरो अस्तेय।। महा प्रणेता देश के, गाँधी …

गाँधी की जरूरत -पद्मा साहू “पर्वणी” Read More »

Mahatma gandhi

गांँधीजी का ज्ञान

राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी का वर्णन कविता के माध्यम से किया गया है।

You cannot copy content of this page