KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

कवि रमेश कुमार सोनी की कविता

कवि रमेश कुमार सोनी की कविताTable of Contentsकवि रमेश कुमार सोनी की कविताबसंत के हाइकु - रमेश कुमार सोनीबसन्त की सौगातकोई आखिरी दिन नहीं होताजूड़े का…

पेड़ बुलाते मेघ -हाइकु संग्रह की समीक्षा , हाइकुकार-रमेश कुमार सोनी एवं समीक्षक-डॉ.पूर्वा…

हाइकु एक जापानी विधा की लेखन शैली है जिसमें कविता का होना अनिवार्य होता है.यह मेरा दूसरा हाइकु संग्रह है.इसकी भूमिका वरिष्ठतम हाइकुकार डॉ.सुधा गुप्ता जी -मेरठ…

झूला झूले फुलवा- ताँका संग्रह की समीक्षा

मेरी यह पुस्तक -' झूला झूले फुलवा ' - हिंदी ताँका की विश्व मे पहली इ पुस्तक है। इसकी समीक्षा ज्योत्सना प्रदीप -विख्यात साहित्यकार ने की है। ताँका एक जापानी…

कब्र की ओर बढ़ते कदम -रमेशकुमार सोनी

कब्र की ओर बढ़ते कदम -रमेशकुमार सोनीपतझड़ में सूखे पत्ते विदा हो रहे हैंविदा ले रहे हैं, खाँसती आवाज़ें ज़माने सेकुछ पल जी लेने की खुशी सेवृद्धों का झुंड…

बंद का समीकरण -रमेश कुमार सोनी

बंद का समीकरण-रमेश कुमार सोनीबंद है दुकानें, कारोबारभारत बंद का हल्ला हैलौट रहे हैं मज़दूर, कामगारअपने डेरों की ओर खाली टिफिन,झोला लिए हुए,बंद हैं रास्ते,…

राख विषय पर हाइकु -रमेश कुमार सोनी

राख विषय पर हाइकु- रमेश कुमार सोनी1 मोक्ष ढूंढने चला - चली की बेला राख हो चला ।।2 राख का डर जिंदगी ना रुकती मौत है सखी ।।3 पानी जिंदगी अग्नि , राख…