छत्तीसगढ़ महतारी के महिमा ल बखान करत हे ए छत्तीसगढ़ी कविता, जेला लिखिन हे कवि पुनीत राम सूर्यवंशी जी (chhattisgarh mahtari)

*छत्तीसगढ़ महतारी* सुघ्घर हाबय हमर छत्तीसगढ़ महतारी, ओला जम्मो कोनो कइथे धान के कटोरा।आवव छत्तीसगढ़िया आरुग मितान-संगवारी मन,नवा छत्तीसगढ़ राज बनाय बर हावय।।1।।बोली-भाखा, जाति-पाति, छुआछूत ल,छोड़के कहन हमन हावन एखरेच संतान।महानदी,इंद्रावती,अरपा,पैरी…

1 Comment

भीमराव अबेडकर पर दोहे

#poetryinhindi,#hindikavita, #hindipoem, #kavitabahar #dohe(function(d,e,s){if(d.getElementById("likebtn_wjs"))return;a=d.createElement(e);m=d.getElementsByTagName(e)[0];a.async=1;a.id="likebtn_wjs";a.src=s;m.parentNode.insertBefore(a, m)})(document,"script","//w.likebtn.com/js/w/widget.js");नीच समझ जिस भीम को, देते सब दुत्कार |कलम उठाकर हाथ में, कर गये देश सुधार ||१||जांत-पांत के भेद की, तोड़ी हर दीवार |बहुजन हित में…

0 Comments

छत्तीसगढ़ महतारी

              महतारी *               ===============सुघ्घर हाबय छत्तीसगढ़ महतारी, एला कइथे भईया धान के कटोरा, आवव मयारू मितान संगवारी मन, नवा छत्तीसगढ़ राज बनाय बर हे।   * छत्तीसगढ़ बोली-भाखा,जात-पात, छुआ-छुत ल, छोड़…

0 Comments

जिन्दगी

    जिन्दगी     ------जिन्दगी है,  ऐसी कली।जो बीच काँटों के पली।पल्लवों संग झूल झूले,महकी सुमन बनके खिली।जिन्दगी  राहें अनजानी।किसकी रही ये पहचानी।कहीं राजपथ,पुष्पसज्जित, कहीं पगडण्डियाँ पुरानी।जिन्दगी सुख का सागर ।जिन्दगी नेह…

0 Comments

शहीद दिवस विशेष

       "शहीद दिवस विशेष"       ===================वतन की हिफाजत के लिए त्याग दिए प्राण। तुमने आह!तक नहीं किये त्यागते समय प्राण।। सीने पर गोली खा के हो गये देश के लिए…

0 Comments