KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

मैं साथ हूं हमेशा तेरे ( पिता पर कविता)-रीता प्रधान

मैं साथ हूं हमेशा तेरे ( पिता पर कविता) हमारी और हमारे पापा की कहानी ।आसमान सा विस्तार ,सागर सा गहरा पानी।जब जन्म पायी इस धरा पर , वो पल मुझे याद नहीं।मां

मौसम कुछ उदास है- रीता प्रधान

मौसम कुछ उदास है- रीता प्रधान दिलों में जाने क्यों,बाकी न कोई एहसास है।एक भाई को ही दूजे भाई की,जाने क्यों खून की प्यास है।प्रकृति तो उदास बैठी ही थी,अब

महिलाओं का जागृत होना जरूरी है

महिलाओं का जागृत होना जरूरी है पंडित जवाहर लाल जी कह गए,लोगों को जगाने के लिए,महिलाओं का जागृत होना जरूरी है.महिलाओं का जागृत होना जरूरी है. घर परिवार की

प्रेम है जीवन का आधार

प्रेम है जीवन का आधार एक सत्य जीवन का, प्रेम जीवन का आधार।स्नेह प्रेम की भाषा समझे, ये सारा संसार । एक उत्तम फूल धरा पर, जो खिल सकता,वो है प्रेम का

ऋतुओं का राजा होता ऋतुराज बसंत

ऋतुओं का राजा होता ऋतुराज बसंत ऋतुओं का राजा इस दुनिया में तीन मौसम है सर्दी गर्मी और बरसात।इनमें आते ऋतुएं छह ,चलो करते हैं हम इनकी बात।सभी ऋतुओं का