बसंत पंचमी आई

बसंत पंचमी आई बसंत का त्यौहार- बसंत ऋतु परिवर्तन लाई, बच्चे खुसी में पतंग उड़ाय हवाये हल्की हल्की बूदों में- रिमझीम रिमझीम लहराय, सुबह श्याम की ठंड, दिन की दुफ…

0 Comments

गुजरेगा समय

हम रहो के राही है भटक जाए इतना आसान नहीं इतना रहो में गुमार नही हम से टकरा जाए इतना हकूमत में साहस नही हो जाता है चिर हरण जैसे…

0 Comments