गुड़िया पर बाल कविता

मेरा बचपन – मीना रानी

मेरा बचपन

याद आता है मुझे
मेरा बचपन
वो बेफिक्री
वो खेलना-कूदना
मस्ती करना
धूप में भी
पेड़ पर चढ़ना
मिट्टी में खेलना
बड़ा भाई डांटे तो
छोटों का दुलारना
छोटा डांटे तो
बड़े द्वारा दुलारना
मम्मी द्वारा
छोटे-छोटे काम सिखाना
स्कूल की बातें
सहेलियों का साथ
जाता नहीं भुलाया
बहुत याद आता है
मुझे मेरा बचपन ।

-मीना रानी, टोहाना, जिला फतेहाबाद (हरियाणा)

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page