KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

जल के बिना मरना हर पल है- प्रियांशी मिश्रा

6 96

जल के बिना मरना हर पल है- प्रियांशी मिश्रा

जल है तो बेहतर कल है,
जल के बिना मरना हर पल है।
जल है तो जीवन जीना भी सम्भव है ‌,
जल के बिना सब कुछ असम्भव है।
जल है तो बेहतर कल है,
जल के बिना मरना हर पल है।

जल संचय करना भी जरूरी है,
जल के बिना जिन्दगी अधूरी है।
जल से ही तो हरी -भरी खेती है,
जिससे किसान की रोजी-रोटी है।
जल है तो बेहतर कल है,
जल के बिना मरना हर पल है।

जल से भरती नदियां और सागर है,
जल से ही भरें महासागर है ‌।
जल की हर बूंद का होता एक अर्थ है,
जल को नहीं करना हमें व्यर्थ है।
जल है तो बेहतर कल है,
जल के बिना मरना हर पल है।

जल है तो अनाज और फल है,
जल से ही तो हमारा आज और कल है।
जल से बुझती सबकी प्यास है,
जल के बिना टूटती सबकी आस है।
जल है तो बेहतर कल है,
जल के बिना मरना हर पल है।

जल से ही तो पूरा संसार है,
जल के बिना पृथ्वी पर विपदा अपार है।
जल को बचाना है, यही मन में ठाना है।
जानवरों को नदियों में नहीं नहलाना है,

जल ही जीवन है सबको बताना है।
जल को व्यर्थ में नहीं बहाना है।
खुद भी समझना है, और दूसरो को भी समझाना है।
जल है तो बेहतर कल है,
जल के बिना मरना हर पल है ।


प्रियांशी मिश्रा

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.

6 Comments
  1. Anjali says

    Nice

  2. Poonam says

    Awesome

  3. Anupam says

    Superb

  4. वंशिका यादव अनुष्का (अनू) says

    very nice…..

  5. वंशिका यादव अनुष्का (अनू) says

    very nice

  6. Mandvi bajpai says

    Very nice..