KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

जानलेवा जहर है तम्बाकू- बीना .एम  केरल (विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर कविता )

6 1,655

जानलेवा जहर है तम्बाकू

बड़ा होना सब तम्बाकू के बिना।
स्वस्थ रहो सब तम्बाकू के बिना।।
मौत के मूँह मे धकेले व्यक्ति को
मारक धुआं मारता है दूसरों को
ऐसा जानलेवा जहर है तम्बाकू।।

तम्बाकू पीता है आनंद के लिए
कैंसर जैसी बीमारियों के लिए
जब बड़ों को नशे का सेवन करते देखके
बच्चे भी….हाँ बच्चे भी….
आगे चलके करने लगे नशे का सेवन
ऐसा जानलेवा जहर है तम्बाकू।।

बीमारी है तम्बाकू का असली चेहरा
जानो जिसको, हत्यारा होता है जैसा
छोड़ दो तम्बाकू , छोड़ दो ये आदत
जियो जिन्दगी सब नशा के बिना
बडा होना सब तम्बाकू के बिना।।

अगर तम्बाकू का सेवन करना छोड़ दो
सकारात्मक बदलाव शुरू होते है शरीर में
सामान्य रहता है ब्लड प्रेशर
कम होता है दिल संबंधी बीमारियों का खतरा
स्वस्थ रहो सब तम्बाकू के बिना।।

आओ तम्बाकू मुक्त अभियान चलायें
तम्बाकू को कभी भी हाथ न लगायें
हम सबका यही हो सपना….
रहे तम्बाकू मुक्त देश अपना….

बीना .एम  केरल

Leave A Reply

Your email address will not be published.

6 Comments
  1. Anamika S says

    Super👍🙌

  2. MS says

    Good

  3. Vimal says

    Beautifully written

  4. Anaya says

    Superb

  5. Anaya says

    Suoerb

  6. Chinju says

    Nice poem