KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

जीवन में संगीत ही आधार है

7 1,401

जीवन में संगीत ही आधार है

संगीत से ही जुडा़ जीवन,
जीवन में संगीत ही आधार है ।
मां की लोरी में पाया संगीत की झंकार है।
पापा के गीतों में पाया खुशियां अपार है ।


बारिश की कल कल बूंदो में
आती संगीत की बयार है ।
कलियों की खिलने में
भंवरे करते संगीतमय मनुहार है ।


कोयल का मीठा संगीत लाता
जीवन में खुशियों की झंकार है ।
बारिश में मयूर का नर्तन
देता खुशियां अपार है ।


जब होता मिलन धरती और आकाश का ,
मेंढक लगाता टर्र – टर्र की गुहार है।
पूजा, प्रार्थना या इबादत
ईश्वर को संगीतमय स्वीकार है ।


संगीतमय हो यह अपना जीवन
जीवन में रहे नित खुशियां हजार है

एकता गुप्ता “काव्या”
उन्नाव उत्तर प्रदेश

Show Comments (7)