KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

करवा चौथ व्रत पर नारी चिंतन

0 1,728

करवा चौथ व्रत पर नारी चिंतन

शम्भु प्रिया हे उमा भवानी।
छटा तुम्हारी शिवा सुहानी।।
करवा चौथ मात व्रत मेरा।
करती पूजन गौरी तेरा।।१

चंदा दर्श पिया सन करना।
मात कामना मम मन धरना।।
रहे अटल अहिवात हमारा।
मिले सदा आशीष तुम्हारा।।२

पति जीवन हित जीवन अपना।
परिजन सुख चाहत नित सपना।।
रहे दीर्घ जीवी पति देवा।
नित्य करूँ माँ प्रभु की सेवा।।३

जय जय माँ गौरी जग माई।
आज तुम्हारे द्वारे आई ।।
रहूँ सुहागिन ऐसा वर दे।
घर में खुशियाँ मंगल कर दे।।४

चंद्र चौथ के साक्ष्य हमारे।
पति परमेश्वर प्राण पियारे।।
दर्श तुम्हें फिर नीर चढाकर।
पति सन पावन प्रीत बढ़ाकर।५

सुनती कथा पूजती गवरी।
पति, शशि चौथ दर्श हित सँवरी।।
पति सन बैठ खोलती व्रत को।
जनम जनम पालूँ पति सत को।।६

बाबू लाल शर्मा,बौहरा

Leave a comment