KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

Register/पंजीयन करें

Login/लॉग इन करें

User Profile/प्रोफाइल देखें

Join Competition/प्रतियोगिता में हिस्सा लें

Publish Your Poems/रचना प्रकाशित करें

User Profile

माता दुर्गा पर दोहे-बाबू लाल शर्मा, बौहरा

0 1,747
पावन  नवरातें  सजे, माता  के  दरबार।
माँ दुर्गे करना भला, तुम हो जगदातार।। 
.              ✨✨✨✨
माँ  दुर्गा  दातार  है,  दे  सबको  वरदान।
मातृशक्ति को मान दो,बेटी को अरमान।।
.               ✨✨✨✨
हर  माता  दुर्गा  बने, जो  हो  पूत  सपूत।
रात दिवस शुभकामना,दें आशीष अकूत।।
.              ✨✨✨✨
माँ दुर्गे  आशीष दे, सबके हित मे आज।
बिटिया संरक्षित रहे, ले संकल्प समाज।।
.              ✨✨✨✨
माता  दुर्गा  दे  रही, सबको शुभ  संकेत।
नारी के सम्मान हित, रहना सदा सचेत।।
.              ✨✨✨✨
बेटी  से  हर  देव  है, दैवी अरु भगवान।
करें  सुता  का  मान दें, माँ दुर्गे वरदान।।
.              ✨✨✨✨
शर्मा  बाबू  लाल  तो, करे न पूजा यज्ञ।
सादर  माँ दुर्गे नमन , मन सेवा से अज्ञ।।
.              ✨✨✨✨ 
✍©

बाबू लाल शर्मा, बौहरा
सिकंदरा, दौसा,राजस्थान

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.