KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR

कविता बहार बाल मंच ज्वाइन करें @ WhatsApp

@ Telegram @ WhatsApp @ Facebook @ Twitter @ Youtube

पतंग पर बाल कविता

0 51

पतंग पर बाल कविता

पतंग पर बाल कविता - कविता बहार - हिंदी कविता संग्रह

सर-सर-सर-सर उड़ी पतंग
फर-फर-फर-फर उड़ी पतंग ॥
इसको काटा,
उसको काटा।
खूब लगाया,
सैर-सपाटा।
अब लड़ने में जुटी पतंग

Leave A Reply

Your email address will not be published.