KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR
Monthly Archives

फ़रवरी 2019

*श्रावण*

*श्रावण*१)सजे कांवरसावन सोमवारशिव के धाम।२)गेरुआ रंगासावन का महीनाशिव का बाना।३)सर्पों की पूजाश्रावण शुक्ल पक्षनागपंचमी ।४)रक्षाबंधनसजती रोली संगथाली…

मेरा चांद ना आया (mera chand na aaya)

जगता रहा मेरा चांद ना आयामेरा चांद ना आयाछत है सुनाये दिल घबरायाआंखें तांकतीएक दूजा चांद कोवह कहतीकैसा तेरा चांद वोवादा मुकरेसारी रात जगाएविरह…

मनीभाई की तांका

मनीभाई की तांका●●●●●●●●●●नाचते देखादेव विसर्जन मेंलोगों कोलिए फूहड़पनडीजे केे तरानों में।●●●●●●●●●●मैं नहीं एकमेरे रूप अनेकमैं ही ना जानूँ  मेरी हकीकत…

हिम्मत न हार

              ##. हिम्मत न हार  ##आज  नहीं  तो  ये  कल  होगा ।प्रश्न  यहीं  का   है  हल  होगा ।।जीवन  जीये  जा   मत   रोना ।यार   हताशा   में  मत  …

लाल तुम कहाँ गये

लाल तुम  कहाँ गये ******************* मेरे आँगन  का उजियारा थामाँ बाप के आँख का तारा था सीमा पर तुझको भेजा था पत्थर  का बना  कलेजा था पर मैने यह नहीं…

नैन पर दोहे

  दोहेदुनिया    के   सबसे   बड़े, , जादूगर  ये  नैन।इनके बिन मिलता कहाँ ,भला किसी को चैन?कमल-नयन   श्रीराम  हैं , त्रिलोचन  महादेव।सृजन  प्रलय  के …

छोटी मछली

छोटी मछलीमैं  हूँ  एक  छोटी  सी  मछली।सपनों  के   सागर  में  मचली।।सोचा  था   सारा   सागर   मेरा,ले आजादी का सपना निकली।।बङे- बङे  मगरमच्छ  वहां …

मेरी मातृभूमि

स्वर्ग  से   सुंदर   भू   भारती ।भानु शशि नित्य करे आरती ।।गौरव   गान  श्रुति  वेद करते ।प्रातः नमन ऋषि हृदय भरते ।।उर्वर  भूमि  सजी  इठलाती ।श्रम…

खामोशी

मैं ,चुप ही रहती हूं ,जाने कबसे ,मुझे पता भी ,नहीं चला ,खामोशी कब,मेरी मीत बन गई,और तुमने समझा,मैं सुधर गई,क्योंकि ,नहीं पूछती देर से आने की वजह ।नहीं…

तिरंगा

तीन रंगों का मैं रखवाला खुशहाल भारत देश हो। मेरी भावनाओं को सब समझें ऐसा यह सन्देश हो।जब-जब होता छलनी मेरा सीना मैं भी अनवरत रोता हूँ ।मेरे दिल की तो…