HINDI KAVITA || हिंदी कविता

भीष्म की विवशता

भीष्म की विवशता ****************कौरव और पांडव के पितामह,सत्य न्याय के पारखी !चिरकुमार भीष्म ,क्या कर गये यह?दुष्ट आततायी दूर्योधन के लिए ,सिद्धांतों से कर ली सुलह!योग्य लोकप्रिय सदाचारी से ,छुड़ा कर अपना हाथ,क्यों दिया नीच पापिष्ठ क्रूर दूर्योधन का साथ?,सोचता हूँ कि क्या यह सब था अपरिहार्य ?या पितामह के लिए सहज स्वीकार्य?विदुर संजय कृष्ण …

भीष्म की विवशता Read More »