स्वर, पद और ताल से युक्त जो गान होता है वह गीत कहलाता है। गीत, सहित्य की एक लोकप्रिय विधा है। इसमें एक मुखड़ा तथा कुछ अंतरे होते हैं। प्रत्येक अंतरे के बाद मुखड़े को दोहराया जाता है। गीत को गाया जाता है।
An anthem consisting of voice, verse and rhythm is called a song.The song is a popular genre of Bhagya. It has a mouth and a few nerves. The mouth is repeated after each interval. The song is sung.

शिव स्तुति
शिव स्तुति, भजन , अनिल कुमार गुप्ता "अंजुम"

शिव महाकाल पर कविता – बाबू लाल शर्मा

हे नीलकंठ शिव महाकाल भक्ति गीत- हे नीलकंठ शिव महाकाल (१६,१४मात्रिक) हे नीलकंठ शिव महाकाल,भूतनाथ हे अविनाशी!हिमराजा के जामाता शिव,गौरा के मन हिय वासी!देवों के सरदार सदाशिव,राम सिया के हो…

0 Comments
बचपन
मुझे वो अपना गुजरा ज़माना याद आया, कविता, अनिल कुमार गुप्ता "अंजुम" -

आ बैठे उस पगडण्डी पर – बाबू लाल शर्मा

आ बैठे उस पगडण्डी पर - बाबू लाल शर्मा HINDI KAVITA || हिंदी कविता आ बैठे उस पगडण्डी पर,जिनसे जीवन शुरू हुआ था।बचपन गुरबत खेलकूद में,उसके बाद पढ़े जमकर थे।रोजगार…

0 Comments
sarv-dharm-prarthna
sarv-dharm-prarthna

वह शक्ति हमें दो दयानिधे

वह शक्ति हमें दो दयानिधे sarv-dharm-prarthna वह शक्ति हमें दो दयानिधे, कर्तव्य मार्ग पर डट जावें l पर सेवा पर उपकार में हम, जगजीवन सफल बना जावें ll हम दीन…

0 Comments
sarv-dharm-prarthna
sarv-dharm-prarthna

तुम ही हो माता पिता तुम्ही हो

तुम ही हो माता पिता तुम्ही हो sarv-dharm-prarthna तुम ही हो माता पिता तुम्ही हो तुम ही बंधू , सखा तुम्ही हो तुम्ही हो साथी तुम ही सहारे कोई न…

0 Comments
sarv-dharm-prarthna
sarv-dharm-prarthna

जीवन विद्या प्रार्थना

जीवन विद्या प्रार्थना sarv-dharm-prarthna वन्दना उनकी करें, जिनसे सुशोभित है धरा ।जिनसे है मानव का पथ, प्रकाश ज्योति से भरा ।।जिनसे दिशा हमको मिली, नित मानवीय मार्ग की ।पथ मिला…

0 Comments
sarv-dharm-prarthna
sarv-dharm-prarthna

तू प्यार का सागर है (Tu Pyar Ka Sagar Hai)

तू प्यार का सागर है (Tu Pyar Ka Sagar Hai) sarv-dharm-prarthna तू प्यार का सागर है,तेरी एक बूँद के प्यासे हम ।लौटा जो दिया तूने,चले जायेंगे जहां से हम ।तू…

0 Comments
sarv-dharm-prarthna
sarv-dharm-prarthna

वैष्णव जन तो तेने कहिये

वैष्णव जन तो तेने कहिये sarv-dharm-prarthna जे पीड परायी जाणे रे । पर दुःखे उपकार करे तो ये, मन अभिमान न आणे रे ॥ ॥ वैष्णव जन तो तेने कहिये..॥…

0 Comments
sarv-dharm-prarthna
sarv-dharm-prarthna

दया कर दान भक्ति का ( Daya kar daan bhakti ka -SCOUT SONG)

दया कर दान भक्ति का ( Daya kar daan bhakti ka -SCOUT SONG) sarv-dharm-prarthna दया कर दान भक्ति का , हमें परमात्मा देना। दया करना हमारी आत्मा में शुद्धता देना।…

0 Comments