Join Our Community

Publish Your Poems

CLICK & SUPPORT

मुर्गी पर बाल कविता

0 113

मुर्गी पर बाल कविता

बाल कविता
बाल कविता

CLICK & SUPPORT

मुर्गी की शादी


दम दम दम दम ढोल बजाता कूद-कूद कर बंदर
राम-राम पुंगरू बाँध नाचता भालू मस्त कलन्दर॥
कुहू कुहू कू कोयल गाती मीठा-मीठा गाना।
मुर्गी की शादी में है बस दिन भर मीज उड़ाना ॥

Leave A Reply

Your email address will not be published.