KAVITA BAHAR
SHABDON KA SHRIGAR
Browsing Tag

कोरोना वायरस पर रचना

कोरोना वायरस संक्रमण के कारण बूढ़ों और पहले से ही सांस की बीमारी (अस्थमा) से परेशान लोगों, मधुमेह और हृदय रोग जैसी परेशानियों का सामना करने वालों के गंभीर रूप से बीमार होने की आशंका अधिक होती है.

कोरोना वायरस का इलाज इस बात पर आधारित होता है कि मरीज़ के शरीर को सांस लेने में मदद की जाए और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जाए ताकि व्यक्ति का शरीर ख़ुद वायरस से लड़ने में सक्षम हो जाए.

कोरोना से युद्ध

कोरोना से युद्ध ~~~~~~~~~~~~~ उनकी खातिर प्रार्थना, मिलकर करना आज। जो जनसेवा कर रहे, भूल सभी निज काज।…

स्वरचित कविता :-कोरोना

स्वरचित रचना:- ■■■■■कोरोना■■■■■ वुहान चीन से फैल कोरोना , दुनियाभर में हाहाकार मचाया । छोटे बड़े सभी देशों में,…

वाह रे कोरोना

कविता - वाह रे , कोरोना ! ...... वाह रे , कोरोना ! तूने तो गजब कर डाला , छोटी सोच और अहंकार को , तूने…

भीड़ में जुटे लोग

भीड़ में जुटे लोग -16.04.2020 --------------------------------/ ये उन लोगों की बातें हैं जो लॉकडाउन,कर्फ़्यू,…

कोरोना चालीसा

??जय श्री राम? सादर वन्दन??? एक प्रयास *कोरोना चालीसा* लिखने का..... सादर समीक्षार्थ प्रस्तुत......…

कोरोना की मार

*कोरोना की मार* गाँव गली सुनसान पड़े हैं। शहर भी तो वीरान पड़े हैं। कोरोना का कहर, आदमी को नाच नचा रहा।…

*कोरोना*

*कोरोना* *कोरोना* का रोना रोये रे मूरख इंसान जीभ स्वाद के चक्कर में बन बैठा हैवान मासूम निरीह पशुओं की…
टूलबार पर जाएं